झारखंड की नदियाँ

 

दामोदर   /देव  नदी 

  • राज्य की सबसे लम्बी और बड़ी  नदी  ( 290 किमी)
  • यह नदी टोरी ( लातेहार ) से निकलती हे |
  • इसे 'बंगाल का शोकभी कहा जाता हे एवं यह नदी झारखण्ड की  सर्वाधिक  प्रदूषित नदी हे |

सहायक नदियाँ- बराकर बोकारो,कोनार एवं भेड़ा

धनबाद एवं गिरिडीह दामोदर नदी के तट पे बसा हुआ हे 

 

स्वर्णरेखा नदी 

उद्गम स्थल - नगड़ी रांची 

  • झारखण्ड की एकमात्र नदी जो स्वतंत्र रूप से बंगाल में गिरती हे |
  • यह नदी दक्षिण पूर्व की ओर प्रवाहित होती और इस नदी में सोना भी पाया जाता हे 
  • सहायक नदी - जुमरू रारु कांची खरकई एवं संजय 

 

 सोन नदी 

 उदगम स्थल -सोन  नदी अमरकंटक की पहाड़ी से निकलती हे और सर्वप्रथम गढ़वा में प्रवेश करती हे 

 सहायक नदी - उत्तर कोयल 

 

 उत्तर कोयल 

  उदगम स्थल - पिस्का ( रांची )

  सहायक नदी - औरंगा एवं अमानत 

 

 

झारखण्ड की नदियाँ और 

उनके उदगम स्थल 

 

औरंगा - रांची से 

अमानत - हजारीबाग से 

दक्षिण कोयल - नगड़ी रांची से 

संख नदी - गुमला 

मोर -मयूराक्षी - तिउड़ पहाड़ी देवघर से 

गुमानी नदी - राजमहल की  पहाड़ी से 

ब्राह्मणी नदी - दुधवा पहाड़ी दुमका से 

बाँसलोई नदी- बाँस पहाड़ गोड्डा से 

फल्गु नदी ( निरंजन/लिलाजन )- छोटानागपुर की पठार

सकरी नदी - छोटानागपुर का पठार

चानन/पंचानन नदी - छोटानागपुर का पठार 

अजय नदी - मुंगेर बिहार से 

गंगा नदी - साहेबगंज जिले से