Download Jharkhand & Bihar Special Android App

झारखण्ड एक परिचय

झारखण्ड यानी 'झार' या 'झाड़' जो स्थानीय रूप में वन का पर्याय है और 'खण्ड' यानी टुकड़े से मिलकर बना है। अपने नाम के अनुरुप यह मूलतः एक वन प्रदेश है जो झारखंड आंदोलन के फलस्वरूप सृजित हुआ। प्रचुर मात्रा में खनिज की उपलबध्ता के कारण इसे भारत का 'रूर' भी कहा जाता है जो जर्मनी में खनिज-प्रदेश के नाम से विख्यात है।

 

1930 के आसपास गठित आदिवासी महासभा ने जयपाल सिंह मुंडा की अगुआई में अलग ‘झारखंड’ का सपना देखा. पर वर्ष 2000 में केंद्र सरकार ने 15 नवम्बर (आदिवासी नायक बिरसा मुंडा के जन्मदिन) को भारत का अठ्ठाइसवाँ राज्य बना झारखण्ड भारत के नवीनतम प्रान्तों में से एक है। बिहार के दक्षिणी हिस्से को विभाजित कर झारखंड प्रदेश का सृजन किया गया था। औद्योगिक नगरी राँची इसकी राजधानी है। इस प्रदेश के अन्य बड़े शहरों में धनबाद, बोकारो एवं जमशेदपुर शामिल हैं।

 

झारखंड की सीमाएँ उत्तर में बिहार, पश्चिम में उत्तर प्रदेश एवं छत्तीसगढ़, दक्षिण में ओड़िशा और पूर्व में पश्चिम बंगाल को छूती हैं। लगभग संपूर्ण प्रदेश छोटानागपुर के पठार पर अवस्थित है। कोयल, दामोदर, खरगई और सुवर्णरेखा। स्वर्णरेखा यहाँ की प्रमुख नदियाँ हैं। संपूर्ण भारत में वनों के अनुपात में प्रदेश एक अग्रणी राज्य माना जाता है तथा वन्य जीवों के संरक्षण के लिये मशहूर है।

 

झारखंड क्षेत्र विभिन्न भाषाओं, संस्कृतियों एवं धर्मों का संगम क्षेत्र कहा जा सकता है। द्रविड़, आर्य, एवं आस्ट्रो-एशियाई तत्वों के सम्मिश्रण का इससे अच्छा कोई क्षेत्र भारत में शायद ही दिखता है। इस शहर की गतिविधियाँ मुख्य रूप से राजधानी राँची और जमशेदपुर, धनबाद तथा बोकारो जैसे औद्योगिक केन्द्रों से सबसे ज्यादा प्रभावित होती हैं।

 

 

 

 

  झारखण्ड एक नज़र

 

राज्य का नाम

झारखण्ड

नामकरण

जंगल झाड़ी की सर्वाधिकता होने के कारण

स्थापना वर्ष

2000

स्थापना दिवस

15 नवम्बर ( दिन बुधवार )

राजधानी

राँची

उपराजधानी

दुमका

राजकीय भाषा

हिन्दी

द्रितीय राजकीय भाषा

उर्दू

राजकीय पशु

हाथी (Elephas Maximus)

राजकीय पक्षी

कोयल

(Eudynamys Scolopaceus)

राजकीय वृक्ष

साल (Shorea Robusta)

राजकीय पुष्प        

पलाश (Butea Monosperma)

प्रतीक चिन्ह

चार J अक्षरों के बिच अशोक चक्र

राज्य का आकार

चतुर्भुजाकार

क्षेत्रफल

79,714 वर्ग किमी

ग्रामीण क्षेत्रफल

77,922 वर्ग किमी

शहरी क्षेत्रफल

17,92 वर्ग किमी

भारत के कूल क्षेत्रफल का हिस्सा

2.42 प्रतिशत

क्षेत्रफल की दृष्टि से देश में स्थान

16 वाँ

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा प्रमंडल

उत्तरी छोटानागपुर

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा प्रमंडल

पलामू

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला

पच्छिम  सिंघ्भूम

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा ज़िला

रामगढ

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा संसदीय क्षेत्र

पच्छिम सिंघ्भुम

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा संसदीय क्षेत्र

चतरा

कूल जनसँख्या

3,29,88134

पुरुषों की संख्या

1,69,30315(51.36 %)

महिलाएँ की संख्या

1,60,57819(48.64 %)

देश की कूल जन्शंख्या में झारखण्ड का हिस्सा

2.72%

जन्शंख्याँ की दृष्टि से देश में स्थान

14वाँ

सर्वाधिक जनसँख्या वाला ज़िला

                                                                                                                                        राँची      

न्यूनतम जनसँख्या वाला ज़िला

लोहरदगा

जनसँख्या घनत्व

414 व्यक्ति प्रतिवर्ग किमी

साक्षरता दर

66.41%

पुरुष साक्षरता दर

76.84 प्रतिशत

महिला साक्षरता दर

55.42 प्रतिशत

लिंग अनुपात

948 प्रति एक हज़ार

जन्म दर

35.7 प्रति एक हज़ार

मृत्यु दर

13.12 प्रति एक हज़ार

शिशु मृत्यु दर

92 प्रति एक हज़ार

विधायिका

एकसदनीय

लोकसभा सीट

14

राज्यसभा सीट

6

विधानसभा सीट

82 ( निर्वाचित 81 + मनोनीत 1 )

प्रमंडल    

5

ज़िला

24

अनुमंडल

45

प्रखंड

263 (260 , 2011 जनगणना

 के अनुसार )

ज़िला परिषद

24

नगर निगम

7  ( राँची , धनबाद , देवघर , आदित्यपुर , चास,मेदिनीनगर , हज़ारीबाग )

नगर परिषद

19

नगर पंचायत

13

छावनी बोर्ड

1 ( रामगढ़ )

 

 

    झारखण्ड में प्रथम

राज्यपाल

प्रभात कुमार

कार्यवाहक राज्यपाल

विनोद चन्द्र पाण्डेय

महिला राज्यपाल

द्रौपदी मुर्मू

मुख्यमंत्री

बाबूलाल मरांडी

निर्दलीय मुख्यमंत्री

मधु कोड़ा

गैरआदिवासी मुख्यमंत्री

रघुवर दास

विधानसभा अध्यक्ष

इन्दर सिंह नामधारी

उप-विधानसभा अध्यक्ष

बागुन सुम्ब्रई

प्रोटेम स्पीकर

विशेश्वर खान

नेता प्रतिपक्ष

स्टीफन मरांडी

विधानसभा के मनोनीत सदस्य

जोसेफ़ पेचेल ग्लासटिन

महिला कैबिनेट मंत्री

जोबा माँझी

मुख्यन्यायधीश

विनोद कुमार गुप्ता

महिला मुख्य न्यायधीश

ज्ञान सुधा मिश्र

जेपीएससी  अध्यक्ष

फटिक चन्द्र हेम्ब्रम

मुख्य सचिव

विजय शंकर दुबे

लोकायुक्त

लक्ष्मण उराँव

महाधिवक्ता

मंगलमय बनर्जी

पुलिस महानिदेशक

शिवाजी महान कौरे

महिला आयोग अध्यक्ष

लक्ष्मी सिंह

पद्मश्री से सम्मानित

जुएल लकड़ा

परमवीर चक्र से सम्मानित

अल्बर्ट एक्का

अशोक चक्र से सम्मानित

रणधीर वर्मा

 

 

प्रथम विश्वविधालय

राँची विश्वविधालय

कृषि विश्विविधालय

बिरसा कृषि विश्वविधालय ,राँची

प्रथम महाविधालय

संत कोलम्बस महाविद्यालय, हज़ारीबाग

प्रथम चिकित्सा विश्वविधालय

राजेंद्र चिकित्सा विश्वविधालय,राँची

प्रथम आयुर्वेद महाविधालय

राजकीय आयुर्वेद महाविधालय ,लोहरदगा

प्रथम इस्पात कारखाना

साकची (जमशेदपुर )

प्रथम लौह-इस्पात कारखाना

टिस्को (जमशेदपुर )

प्रथम उर्वरक कारखाना

सिंदरी ,धनबाद (1951)

प्रथम विस्पोटक कारखाना

गोमिया(1955)

प्रथम ताम्बा कारखाना

घाटशिला

प्रथम बिजली घर

तिलैया , कोडरमा

प्रथम जल विधुत परियोजना

तिलैया जल विधुत परियोजना (कोडरमा)

प्रथम कोयला खनन

झरिया (धनबाद )

प्रथम कोल वाशरी

घाटो (रामगढ़ )

प्रथम सीमेंट उद्योग (1921)

जपला,पलामू

प्रथम रेलमार्ग

राजमहल से मुगलसराय (1862)

खनन के लिए प्रथम रेलमार्ग

जमशेदपुर से हावड़ा

प्रथम नगरपालिका

राँची (1869)

प्रथम नगर निगम

राँची (1979)

प्रथम हवाई अड्डा

बिरसा मुंडा , राँची

प्रथम दूरदर्शन केंद्र

राँची

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान

महेंद्र सिंह धोनी

हॉकी ओलिंपिक टीम के कप्तान

जयपाल सिंह

अन्तर्राष्ट्रीय आदिवासी महिला हॉकी खिलाड़ी

सावित्री पूर्ति

महिला हॉकी ओलिंपिक खिलाड़ी

निक्की प्रधान (2016)

अन्तर्राष्ट्रीय महिला अंपायर

आश्रिता लकड़ा

अन्तर्राष्ट्रीय महिला एथलीट

विजय नीलमणि खालको

एवेरेस्ट फतह करने वाली प्रथम महिला

प्रेमलता अग्रवाल

एवरेस्ट फतह करने वाली पहली आदिवासी महिला

विनीता सोरेन

विश्व शतरंज विजेता

दीप सेनगुप्ता (2000)

प्रथम हिंदी मासिक पत्रिका

घरबंधू

प्रथम हिंदी दैनिक

राष्ट्रीय भाषा

प्रथम अंग्रेजी दैनिक

डेली प्रेस

प्रथम हिंदी साप्ताहिक

आर्यावर्त (संपादक-बालकृष्ण सहाय)

प्रथम फिल्म

आक्रांत

प्रथम नागपुरी फिल्म

सोनाकर नागपुर

प्रथम संथाली फिल्म

मुख्य ब्रहा

बाघों की पहली गणना

बेतला नेशनल पार्क (1932 )

 

 

झारखण्ड में बड़ा ,छोटा

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा प्रमंडल

उत्तरी छोटानागपुर

क्षेत्रफल की दृष्टि से  सबसे छोटा प्रमंडल

पलामू 

जनसँख्या की दृष्टि से सबसे  बड़ा प्रमंडल

उत्तरी छोटानागपुर

जनसँख्या की दृष्टि से सबसे  छोटा प्रमंडल

पलामू

सर्वाधिक ज़िला वाला प्रमंडल

उत्तरी छोटानागपुर (7)

न्यूनतम ज़िला वाला प्रमंडल

पलामू और कोलहान

 (3-3 ज़िला )

सर्वाधिक जनजाति-वाला प्रमंडल

संथाल परगना

प्राचीनतम जनजाति

असुर

नवीनतम जनजाति

कोल (32 वीं)

सर्वाधिक जनसँख्या वाला जनजाति

संथाल

सबसे बड़ा संसदीय क्षेत्र

पच्छिम सिंघ्भुम

सबसे छोटा संसदीय क्षत्र

चतरा

सर्वाधिक वन क्षेत्र वाला ज़िला

प. सिंघ्भुम

(3,841 वर्ग किमी)

न्यूनतम वन क्षेत्र वाला ज़िला

देवघर (169 वर्ग किमी )

सर्वाधिक वन प्रतिशत वाला ज़िला

चतरा (47.62%)

न्यूनतम वन प्रतिशत वाला ज़िला

देवघर ( 6.82%)

जनसँख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा ज़िला

राँची (2.9 M)

जनसँख्या की दृष्टि से सबसे छोटा ज़िला

लोहरदगा (.46M)

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा ज़िला

प. सिंघ्भुम

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा ज़िला

रामगढ़

सर्वाधिक प्रखंड वाला ज़िला

पलामू ( 21 प्रखंड )

सर्वाधिक जलप्रपात वाला ज़िला

राँची

सबसे ऊँचा जलप्रपात

बूढाघाघ (लातेहार)

सर्वाधिक गर्म जलकुंड वाला ज़िला

हज़ारीबाग

सर्वाधिक गर्म जलकुंड

सूरजकुंड

सर्वाधिक गर्म स्थान

जमशेदपुर

सबसे ठंडा स्थान

 नेतरहाट (लातेहार )

सबसे बड़ा पठारी भाग

राँची पठार

सबसे बड़ी लोहे की खान (एशिया में)

नोवामुंडी (प.सिंघ्भुम )

सर्वाधिक कोयला उत्पादन

झरिया (धनबाद)

सबसे बड़ी अलुमुनियम इकाई

मुरी

सबसे बड़ा अर्थेन बाँध

तेनुघाट (बोकारो)

सबसे बड़ा विस्फोटक कारखाना

गोमिया

सबसे बड़ा हवाई अड्डा

बिरसा मुंडा हवाई अड्डा , राँची

सर्वोच्च शिखर

सम्मेद शिखर (पारसनाथ)1365 मी

सबसे बड़ा चिड़ियाघर

बोकारो

सबसे बड़ा जंगल

सारंडा की जंगल

 (प. सिंघ्भूम )

सबसे बड़ी नदी घाटी  परियोजना

दामोदर नदी घाटी परियोजना

सबसे बड़ी और लम्बी नदी

दामोदर नदी

सबसे प्रदूषित नदी

दामोदर नदी

सोना पाए जाने वाली नदी

स्वर्णरेखा नदी

बंगाल की खाड़ी में गिरने वाली एकमात्र नदी

स्वर्णरेखा

सबसे बड़ा अभ्यारण्य

पलामू अभ्यारण्य

सबसे लम्बा राष्ट्रिय राजमार्ग

NH-33

सर्वाधिक ज़िले से गुजरने वाली NH

NH-33 ( 6 ज़िले )

सबसे लम्बा राजकीय मार्ग

SH-24

सर्वाधिक उत्पादक फसल

धान

सर्वाधिक मक्का उत्पादक ज़िला

पलामू

सर्वाधिक गेंहू उत्पादक ज़िला

पलामू

सर्वाधिक पुरुष साक्षरता वाला ज़िला

राँची (84.26%)

न्यूनतम पुरुष साक्षरता वाला ज़िला

पाकुड़ (57.06%)

सर्वाधिक महिला साक्षरता वाला ज़िला

राँची (67.44%)

न्यूनतम महिला साक्षरता वाला ज़िला

पाकुड़ (40.52%)

सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति ज़िला

राँची (1042016 - 35.8%)

सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति प्रतिशत

खूंटी (389626- 73.3%)

न्यूनतम अनुसूचित जनजाति

कोडरमा

न्यूनतम अनुसूचित जनजाति प्रतिशत

कोडरमा

सर्वाधिक अनुसूचित जाति

पलामू

न्यूनतम अनुसूचित जाति

लोहरदगा

सर्वाधिक अनुसूचित जाति प्रतिशत

चतरा

न्यूनतम अनुसूचित जाति प्रतिशत

पाकुड़

एकमात्र छावनी बोर्ड

रामगढ़

 

Downlaod App Now